Hindi Gay sex story – अंकल फाड़ डालो मेरी गांड

Click to this video!

ह जो कहानी आज लिखने जा रहा हूँ यह आज से ठीक दो महीने पहले की बात है, पापा जी ने घर ऊपर वाला हिस्सा किराये पर देने का फैसला किया और एयरफोर्स में काम करने वाले मद्रास के रहने वाले एक युगल को दिया। बीवी एयरफोर्स स्कूल में टीचर है। बीवी पर तो नहीं मियां पर मेरी नज़र थी, ऊपर जाने के लिए सीढ़ियाँ अन्दर से ही निकलतीं थीं।
जैसे कि आप सब तो जानते ही हैं कि मुझे लौड़ों से कितनी चाहत है !
एक दिन दोपहर की बात है, मैं कॉलेज से घर आया। बहुत गर्मी थी, मैं बाथरूम में नहाने के लिए जाने लगा, दिमाग में आया कि तौलिया तो ऊपर तार पर ही सूख रहा होगा। मैं ऊपर गया, उनका कमरा बंद था, अन्दर से बहसने की आवाजें आ रही थी।
वो बोला- साली ना तेरे में गर्मी है, न सुन्दर ! ऊपर से नखरे हज़ार ! चल मुँह में लेकर इसको चूस !
वो नहीं मानी। मैं चला आया। शाम को ऊपर किसी काम से गया तो अंकल नहा रहे थे, पानी से उनका अंडरवियर चिपका हुआ था और फूले हुए भाग से मालूम हुआ कि लौड़ा मस्त है। मेरी नज़र वहाँ पड़ती देख अंकल ने अन्दर हाथ डाल साबुन लगाने के बहाने साइड से लौड़ा दिखा ही दिया।
क्या मस्त लौड़ा था !
आजकल उनकी रात की शिफ्ट थी, वो नहा कर तैयार होकर चले गए। सुबह वो आठ बजे आते थे और आंटी नौ बजे जातीं थी। घर में कोई नहीं था, मैं अकेला था, कॉलेज ११ बजे जाना था। आंटी चाभी देकर चली गई। अंकल आज लेट थे।
जैसे ही वो आये, झट से कपड़े उतार बाथरूम में घुस गए। उन्होंने आवाज़ दी- मैं नहा रहा हूँ, आया !
मैं भी सिर्फ अंडरवियर पहन बाहर आया। उनकी नज़र मेरे चिकने और लड़की जैसे जिस्म पर थी- वाह बेटा ! चिकने हो ! देखूँ छाती ! कोमल !
बोले- अकेला है ?
जी हाँ ! अकेला ही हूँ !
ऊपर आजा ! मैं भी अकेला हूँ, मिलकर नहाते हैं !
मैं उनके पास गया और एक हाथ से चाबी देते हुए नीचे से लौड़े को मसलते हुए कहा- आप नीचे क्यूँ नहीं आ जाते ! ए.सी में मजा भी आयेगा !
हाय मेरी जान अभी आया !
मेन गेट बंद करते हुए आना !
सोचा- अबे ओ सनी ! तेरी गांड को तो मौज लग जायेगी ! वो भी घर में ही !
मैं शावर के नीचे नहाने लगा,अंकल भी आ गए। मैं उनसे चिपक गया, वो मेरे होंठ चूसने लगे। मैं हाथ में लौड़ा लेकर सहलाने लगा। पानी में और भी आनंद मिलने लगा।वाह मेरे गांडू!

वो मेरे चूतडों को पकड़ कर मसलने लगे। बेटा ! कितनी गांड मरवाता है कितने मस्त चूतड़ हैं !
मार के देख लेना जान ! कितने मस्त हैं ! आपका लौड़ा रात को जबसे देखा है चूसने को दिल कर रहा है।
हाँ हाँ चूस न !
मुझे पता है आंटी नहीं चूसती !
भोसड़ी की बहुत हरामी है !
ऐसे ही है अंकल ! मैंने उनका कच्छा उतार दिया और नीचे झुक कर मुँह में डाल लिया। मुँह में जाते ही उनका खड़ा होने लगा, देखते ही तन कर खड़ा हो गया।
आह मेरे लाल ! चूसता जा !
६९ में होकर मेरी गांड चाटने लगे, साबुन गांड पर लगा ऊँगली डालते हुए मुझे पूरा मजा देने लगे।
आह अह अह ! अंकल आई लव योउर लौड़ा !
चूस बेटा ! अच्छा लगा, बहुत अच्छा !
आह आह ! बिस्तर में चले अंकल?
ज़रूर !
तौलिए से पोंछ कर उठा मेरे ही कमरे में मेरे ही बिस्तर पर डाल दिया। अंकल ने दिल खोल कर चुसवाया, मैंने भी दिल से चूसा ऐसा लौड़ा।
मुझे घोड़ी बना पीछे से लौड़ा गांड पर रख दिया, मैंने पकड़ ठिकाने पर लगा दिया। पहले धक्के से थोड़ा सा घुसा, दो चार धक्कों से पूरा अन्दर घुस गया।
आह अंकल ! अब गांड मारो !
आह ओह !मेरे बेटा ! बहुत मस्त निकला ! तेरी गांड रोज़ मारूँगा ! क्या माल है ! ऐसा मजा तो मेरी औरत ने नहीं दिया !
आह अंकल ! फाड़ डालो मेरी गांड !
उनका लौड़ा ज़बरदस्त तरीके से मेरी गांड के अंदर बाहर हो रहा था।
चल ऊपर बैठ जा ! देखूँ कैसे उछल उछल कर इस पर बैठेगा ! तुझे भी मजा आ जायेगा ! वैसे भी तेरी पोली पोली गांड जब जांघों से घिसेगी तो मजे का आलम छा जायेगा मेरी जान !
लो अंकल आ गया ऊपर !
चल इस पे बैठता जा साले, नाटक मत कर, बहनचोद, सब जाने तू !
संभालो अंकल ! मैं अपने तरीके से आराम से पूरा लौड़ा निगल गया।
औ अह मेरी जान ! उछल ! अह ओह अह ओह ! बेटा मजेदार माल है ! फाड़ दूंगा तेरी ! आज से तू मेरी औरत ! क्या मुझे रोज़ मरवाया करेगा?
ज़रूर अंकल ! बाहर मुँह मारने से अच्छा है यहीं मरवाया करूँगा बिना किसी डर से !
अंकल ने एकदम मुझे पलटा और मेरे ऊपर आ गए दोनों टांगें कन्धों पर रखवा कर बीच से मोर्चा फतह किया। अब वो झड़ने वाले थे, वो फाड़ देने पर उतर आये थे। यह अंदाज़ मुझे स्वर्ग दिखा रहा था।
ओह बेटा !
वह जोर जोर से झटके लगाने लगे। कुछ मुझे दर्द भी हुआ, लेकिन सब भूल कर मैं चुदवाता रहा। फ़िर अंकल एकदम मुझ पर गिर गए और सारा माल अन्दर डाल दिया।
दोस्तो, मेरी तो गांड को मौज लग गई। वो ड्यूटी से आते और मुझे चोदने के बाद ही कॉलेज जाने देते। वह पूरे मजे लूट रहे हैं।
अब तो आंटी का पेट बाहर आने लगा है, उनका भाई कुछ दिनों में उनको लेने आने वाला है ताकि बच्चे की और माँ की देख रेख किसी घर की सयानी की देख रेख में हो।
मैं और अंकल बहुत खुश हैं। बोलते हैं- अब से तू मेरी पत्नी है ! तू घबरा मत, तुझे मैं नए लौड़े दिलवाता रहूँगा। किसी दिन हम उसके एक दोस्त के घर जाकर चुदाई करेंगे, उसके बारे में जल्दी लिखूंगा।

Comments


Online porn video at mobile phone


gay vedio indian maturw dhoti gay sexgay sex kahani hindi newindián sexdesi land xxxindian nude uncleDesi old man gay fucking picture desigaysite.tumblr.comMuslim mascular mote lund ki gay storyindian gay long cock boy sex picstamilboysseximagesindian nude boy with dick pic models mandesi Indian dick picgay india naked videotamill gayto gaysex vedioNude male indiaGay uncle xxx kahanidesi gay group sexindian long cockshemale slave antrwasna khanixxx Indian gayboysnekeddesi gays porn imagesuncle sathe gaysexindian desi gay nude pichot indian gay fuckhttps://porogi-canotomotiv.ru/sex-confession/indian-gay-sex-story-sex-with-a-labourer/indian gay pornDesi nude manindian nude gay huge cockladka indian gay videohindi gay kahaniindian gay hunkindian hd cockगे.चुदाईNaked indian gay boyindiandaddysexvediodesi boys nudedesi gay fuckingdesi boy nudehindi gay sex storyскачать самай чооки сексGaytamilboyssexindian big crocknanga hairy daddy laudaGar me land gay pornindian gay boy nudeindian gay story nahanaDesi gay boy naked imageindiangaysite mature gay analdesi tau sex vediosdesi gay penissite:porogi-canotomotiv.rubhanje se chdwane ka majatamilgayMamu sexHot Lunds of men nudeDesi gay sex saite comsharmistha sheet fuckindian boy full nude picCrossdresser bana hai Muzhe GAYindian cock suckerindian blindfold sexindian nude gay male xxx videos.man land nude picdesi uncle gay sex videotamil cock potosindiangaysitesubmission sex kahanihairy chest hot desi hunkdesi big lund muth marigay nackt indiannude desi super hot